Dalha Pahad प्राकृतिक सुंदरता वाली रहस्यमयी पहाड़

दलहा पहाड़ एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है, जो अपने चमत्कार प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। प्रतिवर्ष नाग पंचमी का त्यौहार dalha pahad में विशाल मेले के रूप में मनाया जाता है। चारों तरफ से हरी भरी की चादर ओढ़ यह दलहा पहाड़ देश-विदेश के अनेकों पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इसके बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे।

इस पोस्ट में हम आपको दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़ की खूबसूरती से रूबरू कराएँगे। हम आपको दलहा पहाड़ की विस्तार जानकारी, dalha pahad ki story तथा dalha pahad mandir, Dalha pahad picnic spot की सारी महत्वपूर्ण जानकारी देंगे। इसके बारे में जानने के लिए हमारे साथ बने रहिए। 

Dalha Pahad | दलहा पहाड़ अकलतरा

दलहा पहाड़ जांजगीर चांपा जिले में स्थित एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल होने के साथ-साथ प्रमुख पर्यटन स्थल है। दलहा पहाड़ प्रकृति प्रेमियों और पर्यटकों के लिए एक शानदार जगह से काम नहीं। यह dalha pahad जिला मुख्यालय जांजगीर चांपा से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है तथा तहसील अकलतरा से मात्र 16 किलोमीटर की दूरी पर दलहापोड़ी गांव में स्थित है। 

यह दलहा पहाड़ अपनी शांत वातावरण, प्राकृतिक सुंदरता और मनोरंजन गतिविधियों के लिए प्रसिद्ध है, दलहा पहाड़ की ऊंचाई 750 मीटर है जिससे यह खूबसूरत स्थल मनोरंजन गतिविधियां करने के लिए पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती हैं। पहाड़ी के चारों ओर हरे-भरे घने जंगल, नदिया और झरने dalha pahad की सुंदरता में चार चांद लगाते हैं। यहां प्रतिवर्ष आने वाले पर्यटक इसकी सुंदरता को देख मंत्रमुग्ध हो जाते हैं।

दलहा पहाड़ अपनी धार्मिक मान्यताओं के कारण भी पूरे छत्तीसगढ़ में प्रसिद्ध हैं, यहां प्रतिवर्ष नाग पंचमी के उत्सव को बड़ी धूमधाम से मेले के रूप में मनाया जाता है। पहाड़ी पर कई प्राचीन मंदिर हैं, जिसमें कहा जाता है कि पहाड़ के ऊपर दलहा बाबा आज भी निवास करते हैं। पहाड़ी के ऊपर पहले 10 कुंड तथा दो तालाब हुआ करते थे, ऐसा यहां के स्थानीय लोगों का मानना है। लेकिन वर्तमान में यहां केवल 8 ही कुंड तथा एक ही तालाब विद्यमान है। 

Dalha Pahad chhattisgarh

Dalha Pahad Story

यहां दलहा पहाड़ अकलतरा से जुड़ी बहुत सी कहानीयां और किवंदतियाँ स्थानीय लोगों से सुनने को मिलती हैं। जिसे यह पता चलता है कि दलहा पहाड़ ज्वालामुखी के फटने के कारण निर्मित हुआ है। जिससे यहां अत्यधिक मात्रा में चूना पत्थर पाया जाता है दलहा पहाड़ के बहुत से चट्टानों पर चूना पत्थर देखने को मिलता है। 

दलहा पहाड़ से जुड़ी दूसरी कहानी के अनुसार इस दलहागिरी पहाड़ पर दलहा बाबा का निवास स्थान हुआ करता था। जिसके कारण इस स्थान का नाम दलहा पहाड़ पड़ा। दलहा बाबा पहाड़ के ऊपर तपस्या करते थे तथा लोगों को उपदेश भी देते थे। इसके प्रमाण के रूप में हमें यहां 10 में से 8 कुंड वर्तमान में देखने को मिलते हैं, इसके अलावा यहां एक तालाब भी देखने को मिलता है जो अत्यधिक प्राचीन दिखाई पड़ता है। 

Dalha Pahad photo akaltara

Dalha Pahad Mandir (दलहा पहाड़ मंदिर)

दलहा पहाड़ अपने धार्मिक महत्व के लिए भी जाना जाता है पहाड़ी के ऊपर कई प्राचीन मंदिर स्थित है। जिसके कारण बहुत से श्रद्धालु भक्त तथा पर्यटक दलहा पहाड़ मंदिर देखने के लिए जाते हैं। dalha pahad के ऊपर आपको श्री कृष्ण मंदिर, अर्धनारीश्वर मंदिर, श्री सिद्ध मुनि आश्रम, नाग नागिन मंदिर जैसे बहुत से प्राचीन मंदिर देखने को मिलते हैं जो अपने चमत्कार तथा प्राचीन मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है। इन मंदिरों के पास आपको कुछ कुंड देखने को मिलते हैं जो बहुत ही पवित्र और चमत्कारी हैं। ऐसा माना जाता है कि इस कुंड का पानी प्रतिवर्ष ज्यों का त्यों भरा रहता है। यह कौन कभी नहीं सूखता लोगों का ऐसा भी मानना है कि स्कूल के पानी को पीने से बहुत से बड़ी से बड़ी बीमारियां ठीक हो जाती हैं।

Dalha Pahad Picnic Spot

दलहा पहाड़ अपने धार्मिक महत्व के अलावा भी एक खूबसूरत पर्यटन स्थल के रूप में भी जाना जाता है, लोग dalha pahad picnic spot प्रतिवर्ष अपने परिवार तथा दोस्तों के साथ आकर सुकून से भरे इस पहाड़ के खूबसूरत नजारे का लुफ्त उठाते हैं। बहुत से पर्यटक यहां आकर पिकनिक तथा मनोरंजन से भारी कई गतिविधियां करते हैं, पर्यटक यहां ट्रैकिंग, कैंपिंग कर इस खूबसूरत स्थान का लुफ्त उठाते हैं। इसकी घने हरे भरे पेड़ पौधे मां को सुकून तथा शांति का अनुभव प्रदान करते हैं। इसलिए प्रतिवर्ष देश-विदेश से हजारों की संख्या में पर्यटक दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़ पहुंचते हैं।

Dalha Pahad photos chhattisgarh

इसे भी पढ़ें – देखिये Top 15+ बस्तर में घुमने की जगह

आपके प्रश्नों के उत्तर

1. दलहा पहाड़ कहां है?

दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले में स्थित है, जो अकलतरा तहसील से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

2. दलहा पहाड़ की ऊंचाई कितनी है?

दलहा पहाड़ की ऊंचाई 750 मीटर हैं।

3. बिलासपुर से दलहा पहाड़ की दूरी कितनी है?

बिलासपुर से दलहा पहाड़ की दूरी 35 किलोमीटर है। 

4. रायपुर से दलहा पहाड़ कितने किलोमीटर है?

रायपुर से दलहा पहाड़ की दूरी 160 किलोमीटर है।

How to Reach (दलहा पहाड़ कैसे पहुचे)

दलहा पहाड़ छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले में स्थित है, जो तहसील अकलतरा से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। दलहा पहाड़ एक अद्वितीय पर्वतीय स्थल है, जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता शांत वातावरण और मनोरम दृश्य के लिए प्रसिद्ध है। यदि आप दलहा पहाड़ की प्राकृतिक सुंदरता का आनंद उठाना चाहते हैं। तो आपको जिला जांजगीर-चांपा पहुंचना होगा। नीचे मैंने देश-विदेश के सभी पर्यटकों के लिए dalha pahad chhattisgarh पहुंचने के यात्रा के बहुत से विकल्प सुझाए हैं जिसकी सहायता से आप बड़ी आसानी से इस सुंदर प्राकृतिक स्थल तक पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग द्वारा: सड़क मार्ग द्वारा आप छत्तीसगढ़ के किसी भी जिले से बस, कार, मोटरसाइकिल की सहायता से बड़ी आसानी से दलहा पहाड़ पहुंचकर इसकी सुंदरता का आनंद उठा सकते हैं।

रेल मार्ग द्वारा: रेल मार्ग द्वारा आप अपने निकटतम रेलवे स्टेशन से अकलतरा रेलवे स्टेशन तक की यात्रा सफल कर इस अद्भुत पर्वतीय स्थल का लुफ्त उठाने आ सकते हैं।

हवाई मार्ग द्वारा: हवाई मार्ग द्वारा आप अपने निकटतम हवाई अड्डे से यात्रा कर जांजगीर चांपा पहुंचकर dalha pahad akaltara की खूबसूरती का लुफ्त उठा सकते हैं। 

Leave a Comment