Janjgir naila Durga pandal: माँ दुर्गा की भव्य मूर्ति

सोने चांदी से सजे माँ दुर्गा की प्रतिमा जो Janjgir naila Durga pandal में स्वर्ण कमल पर विराजमान है, अगल-बगल माँ लक्ष्मी और माँ सरस्वती विराजमान है साथ में श्री गणेश जी और श्री कार्तिकेय की प्रतिमा भी स्थापित है।

100 फिट की उचाई वाले पंडाल को बेस्ट लाइटनिंग से सजाई गयी है, जो रात में लोगो को लुभा लेती है। लोग इसे देखने के लिए दूर-दूर से आते है।

इस साल Naila Durga 2023 को बहुत ही ज्यादा भव्य और पंडाल को विशालकाय बनाया गया है, जिसके कारण लोग यहाँ खीचें चले आ रहे है। वैसे तो हर साल सब अच्छा होता है लेकिन 2 साल कोरोना के बाद इस साल माँ की बड़ी धूम-धाम से प्रतिमा स्थापित की गयी है।

Introduction परिचय

छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले में नैला नामक एक गाँव स्थित है जिसमे माँ दुर्गा की भव्य पंडाल का निर्माण हर साल किया जाता है पूरे छत्तीसगढ़ में यह प्रसिद्ध है और यहां दूर-दूर से भक्त माता के दर्शन करने आते हैं।

हर साल नैला दुर्गा पंडाल को छत्तीसगढ़ में सबसे ऊचा बनाया जाता है। जिसे “श्री दुर्गा समिति नैला” द्वारा हर एक साल नैला स्टेशन के सामने कुछ नया भव्य आकर्षक बनाया जाता है जो की पिछ्के साल से और ज्यादा बेहतर किया जाता है। यह नैला दुर्गा पंडाल 2023 का न की पुरे छत्तीसगढ़ में अपितु भारत में भी प्रसिद्ध है।

नैला दुर्गा पंडाल का इतिहास

जांजगीर के नैला दुर्गा पंडाल का इतिहास 16वीं शताब्दी का बताया जाता है उस मंदिर में मां दुर्गा की एक प्राचीन प्रतिमा स्थापित थी। लेकिन वक्त से साथ वह लुप्त हो गये लेकिन वही स्थान पर पंडाल बनाकर माँ दुर्गा की पूजा की जाती है।

इसका निर्माण 1950 के दशक में किया गया शुरुआत के दिनों में यह दुर्गा पंडाल छोटा सा हुआ करता था। लेकिन अब यह छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा और भव्य पंडाल बनता है, जहाँ आज हजारों की संख्या में भक्त यहाँ आते है।

Janjgir naila Durga pandal | जांजगीर नैला दुर्गा पंडाल

जांजगीर में स्थित Naila Durga pandal 2023 में इस साल माँ दुर्गा की विशाल मूर्ति तथा पंडाल का निर्माण किया गया है दुर्गा पंडाल को 100 फीट से अधिक ऊंचाई का बनाया गया है। 100 फीट से अधिक ऊंचाई वाले पंडाल के अंदर मां दुर्गा की 35 फीट की प्रतिमा स्थापित की गई है।

जिसमे मां दुर्गा की सोने चांदी से जड़ित विशाल प्रतिमा बनाई गई है जो 20 फीट व्यास वाले चांदी के छत्र के नीचे स्वर्ण कमल पर विराजमान है। मां दुर्गा का श्रृंगार असली हीरे-मोती और बहुमूल्य रत्नों से किया गया है जो देखने लायक है।

साथ ही मां दुर्गा के अगल-बगल में मां लक्ष्मी और मां सरस्वती की प्रतिमा स्थापित की गई है जिन्हें भी बहुमूल्य रत्नों और हीरे मोती से सजाई गई है तथा श्री गणेश और श्री कार्तिकेय की 10-10 फीट की प्रतिमाए स्थापित है पंडाल में स्थापित सभी देवी देवताओं का श्रृंगार भव्य तरीके से किया गया है।

यहां पिछले साल की तुलना में इस साल हद से ज्यादा श्रद्धालु माता के दर्शन करने आए हुए हैं जिसके कारण रास्तों में चक्के जाम हो रहे हैं। Naila Durga pandal की ऊंचाई 100 फीट से अधिक है जिसके कारण विशाल भव्य प्रवेश द्वार बनाया गया है।
वही पंडाल की लाइटिंग रात में लोगों को खूब लुभा रही है और अपनी ओर आकर्षित कर रही हैं।

दुर्गोत्सव को देखने के लिए मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार , उड़ीसा, झारखंड, महाराष्ट्र, दिल्ली सहित अन्य राज्य के श्रद्धालु भक्त जांजगीर नैला पंडाल मां दुर्गा के दर्शन करने के लिए भारी संख्या में पहुंच रहे हैं।

श्री दुर्गा समिति नैला के अध्यक्ष राजू पालीवाल के द्वारा सभी प्रतिमाओं के श्रृंगार में लगे हीरे मोती और रत्नों की कीमत करोड़ों में है, जिसका आकलन नहीं किया गया है। इसके अलावा पंडाल और लाइटनिंग का खर्चा अलग है।

2 साल कोरोना महामारी के बाद इस साल मां दुर्गा की विशाल भव्य प्रतिमा स्थापित की गई है, जो ना कि छत्तीसगढ़ में पूरे भारत में प्रसिद्ध हो रही है माता का ऐसा श्रृंगार आपने कहीं नहीं देखा होगा। तथा इस साल श्रद्धालुओं की संख्या भी भारी संख्या में देखी जा रही है।

Naila Durga pandal 2023 photo Gallery

naila durga pandal 2023
janjgir naila durga pandal
janjgir durga pandal

यहाँ मैंने नवरात्र दुर्गा ( janjgir naila station ) photos उपर दी है, जो वहाँ गये भक्तो के द्वारा ली गयी है।

नैला दुर्गा पंडाल की विशेषताएं

  • पंडाल की ऊचाई लगभग 100 फिट से अधिक है।
  • पंडाल को विभिन्न प्रकार के रंगीन रोशनी वाले लाइटनिंग gedgets से सजाया गया है।
  • पंडाल में मां दुर्गा की 35 फिट की विशाल प्रतिमा स्थापित की गयी है।
  • करोडो के हीरे मोती तथा बहुमूल्य रत्नों से माँ का श्रृंगार किया गया है।
  • पंडाल में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम और आयोजन किए जाते हैं।

नैला दुर्गा पंडाल के आकर्षण

  • विशाल और भव्य पंडाल
  • मां दुर्गा की विशाल प्रतिमा
  • खुबसूरत लाइटनिंग
  • गीत संगीत, नृत्य, भजन, नाटक जैसे विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमो का आयोजन।

अन्य जांजगीर के धार्मिक स्थल

  • कुंवारी माता मंदिर
  • नैला दुर्ग
  • रानी सती दादी मंदिर
  • जांजगीर अभयारण्य
  • जांजगीर-चांपा संग्रहालय

Video Dekhe

Credit to Jagga Ki Vlogs

How to reach Naila Durga pandal | नैला दुर्गा पंडाल कैसे पहुचे?

नैला दुर्गा पंडाल जांजगीर-चांपा जिले में स्थित है। यहां पहुंचने के लिए निम्नलिखित मार्गों का उपयोग किया जा सकता है जिससे की आप सरलता से यहाँ पहुच सके:

By Road (सड़क मार्ग से): जांजगीर नैला सड़क मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

By Train (रेल मार्ग से): जाजगीर रेलवे स्टेशन स्थित है, जिससे आप बड़ी आसानी से पहुच सकते है।

By Air (हवाई मार्ग से): नैला आप हवाई मार्ग से बड़ी आसानी से पहुच सकते है।

जांजगीर नैला दुर्गा पंडाल की उचाई कितनी है?

जांजगीर नैला दुर्गा पंडाल की उचाई 100 फिट से अधिक है।

नैला दुर्गा पंडाल कहा स्थित है?

नैला दुर्गा पांडाल छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले में स्थित है।

जांजगीर नैला दुर्गा पंडाल क्यों प्रसिद्ध है?

विशाल पंडाल तथा माँ की प्रतिमा में लगे असली हीरे मोती के श्रृंगार के कारण जांजगीर नैला दुर्गा पंडाल प्रसिद्ध है।

जांजगीर नैला दुर्गा कब जाना चाहिए?

जांजगीर नैला दुर्गा नवरात्री के समय जाना चाहिए।

Conclusion | निष्कर्ष

छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिला में स्थित नैला दुर्गा पंडाल को आज ऐसा कौन व्यक्ति है जो ना जनता हो। यहाँ माँ दुर्गा की विशाल प्रतिमा हीरे मोतियों से जडित कर बने जाती है और माँ को स्वर्ण कमल पर विराजमान किया जाता है। अतभुत lightning जो लोगो को अपनी ओर आकर्षित करती है। यह दुर्गोत्सव से समय पुरे छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी प्रतिमा और कीमती माँ की प्रतिमा तैयार की जाती है। जिसे देखने लोग दूर-दूर से आते है और माँ का दर्शन कर आशिर्वाद लेतें है।

यदि आप यहाँ के रहने वाले है तो आप भाग्यशाली है आपको यहाँ एक बार नवरात्रि के समय जरुर जाता चाहिए अपने परिवार और दोस्तों के साथ माँ दुर्गा आपको मनोकामना पूरा करें।

आप Comment में अपना experience शेयर करना न भूल। आपका दिन शुभ हो

धन्यवाद!

Leave a Comment