Kosgai Mandir Korba ( कोसगाई मंदिर कोरबा ) एक धार्मिक स्थल

क्या आप जानते हैं kosgai mandir korba जिले में स्थित एक प्राचीन चमत्कारी मंदिर है जिसमें मां कोसगाई समय-समय पर अपनी मूर्ति रूप से निकलकर चली जाती हैं और पूजा तथा नवरात्रि के समय वापस चली जाती हैं। इसका इतिहास रामायण काल और 52 शक्तिपीठों से जुड़ा हुआ है, जिनके बारे में हमने नीचे बात की है। 

कोसगाई मंदिर के बारे में 

कोसगाई मंदिर एक प्राचीन मंदिर है जो छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में स्थित है जो जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह मंदिर कोरबा के कोसगईगढ़ में स्थित है। मां कोसगाई मंदिर का इतिहास बहुत पुराना बताया जाता है, जिनके बारे में हम नीचे बात करेंगे। 

Kosgai Mandir Korba | कोसगाई मंदिर कोरबा

कोरबा जिले में बहुत से प्राचीन तथा धार्मिक मंदिर स्थित है उन्हें में से एक कोसगाई मंदिर है के जो कोरबा के प्रसिद्ध मंदिरों में से एक है। कोसगाई माता मंदिर एक चमत्कारी मंदिर है माता कभी समय-समय पर अपनी मूर्ति रूप को छोड़कर चली जाती हैं तथा नवरात्रि के समय भक्तों के लिए वापस मंदिर में चली आती है। 

कोसगाई माता मंदिर बस्ती से 200 फीट ऊंची पहाड़ की चोटी पर स्थित है पहाड़ की शिखर पर मां कोसगाई की सुंदर प्रतिमा विराजमान है। जिसके दर्शन के लिए श्रद्धालु भक्त नवरात्रि के समय अधिक संख्या में पहुंचते हैं। कहते हैं कि कोसगाई माता मंदिर में लाल कपड़ा नहीं चढ़ाया जाता यहां सिर्फ मां को सफेद कपड़े ही चढ़ाए जाते हैं। इसलिए क्योंकि मां कोसगाई शांति का प्रतीक है। 

Kosgai Mandir Korba

Kosgai Mata Mandir History | कोसगाई मंदिर का इतिहास

कोरबा जिले में स्थित कोसगाई मंदिर अपनी प्राचीन तथा धार्मिक स्थल के लिए प्रसिद्ध है। मंदिर का इतिहास रामायण काल से भी जुड़ा हुआ है। कहते हैं मंदिर का इतिहास मां शक्ति के 52 शक्तिपीठों से जुड़ी हुई है। कोसगाई मंदिर का निर्माण 500 वर्ष पूर्व का बताया जाता है।

स्थानीय लोग कहते हैं कि यहां पहले एक किला हुआ करता था जिसके पुरातात्विक अवशेष देखने को मिलते हैं जिसके अनुसार वहां स्थित किला 12 से 13वीं शताब्दी का बताया जाता है। 

लोगों द्वारा इस मंदिर के बारे में एक किवंदती बहुत प्रसिद्ध है, जिसमें कहा जाता है कि उसे समय 6 महीने का रात और 6 महीने का दिन हुआ करता था जिसमें यहां किले का निर्माण रात के समय कराया जा रहा था। तभी पहाड़ अचानक से किले पर गिरने लगी फिर भी ने उसे पहाड़ को अपने कंधे पर उठाया जिसका चित्र हमें पहाड़ के ऊपर देखने को मिलता है। 

Kosgai Mandir photos

नीचे मैंने कोरबा जिले में स्थित कोसगाई माता मंदिर की तस्वीरें दी हुई है जिसे आप देख सकते हैं।

Kosgai Mandir Korba
Kosgai Mandir Korba

How to Reach Kosgai Mandir Korba 

कोसगाई माता मंदिर कोरबा में स्थित एक प्रसिद्ध मंदिर है जो जिला मुख्यालय से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। तथा राजधानी रायपुर से कोसगाई माता मंदिर की दूरी 207 किलोमीटर साथी बिलासपुर जिले से 90 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। kosgai mandir korba तक पहुंचना बहुत ही आसान है, यहां पहुंचने के लिए यात्रा के निम्न साधन नीचे मैंने सुझाए हैं। 

By Bus (बस द्वारा) – बस द्वारा कोरबा तक आप बड़ी आसानी से पहुच सकते है।

By Train (ट्रेन द्वारा) – ट्रेन द्वारा आप कोरबा बड़ी आसानी से पहुच सकते है।

By Air (हवाई द्वारा) – हवाई द्वारा आप कोरबा तक पहुंचना आसान है।

Tourist Places near Korba 

आपके प्रश्न

1. कोसगाई मंदिर कहाँ स्थित है 

कोसगाई मंदिर कोरबा के कोसगईगढ़ में स्थित है।

2. कोसगाई मंदिर जाने का सही समय

कोसगाई मंदिर भक्ति नवरात्रि के समय भारी संख्या में जाते हैं।

3. कोसगाई मंदिर खुलने का समय

कोसगाई मंदिर सुबह 7:00 से रात के 7:00 बजे तक खुला रहता है। 

Conclusion

यदि आप कोरबा जिले के निवासी हैं तथा आप प्राचीन ऐतिहासिक मंदिरों का दर्शन करना चाहते हैं तो कोरबा जिले में स्थित है कोसगाई माता मंदिर जहां आप जा सकते हैं। korba kosgai mandir का इतिहास रामायण काल से जुड़ा हुआ है, इसके बारे में मैंने ऊपर आपको बताया है। मां कोसगाई एक चमत्कारी मंदिर है, ऐसा स्थानीय लोगों का मानना है मंदिर 200 फीट ऊंचे पहाड़ की चोटी पर स्थित है। जो देखने पर एक प्राकृतिक खूबसूरत अनुभव देता है। 

यदि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी लगी है तो आप Comment में अपना experience शेयर करना न भूल।

आपका दिन शुभ हो

धन्यवाद!

Leave a Comment