देख Top राजिम में घुमने की जगह लोग हुए उतावले

राजिम, गरियाबंद जिले का एक महत्वपूर्ण शहर है जहां बहुत से तीर्थ स्थल मौजूद है। यहां स्थित एक प्रमुख जगह है जिसे छत्तीसगढ़ का प्रयाग भी कहते हैं। राजिम अपनी धार्मिक स्थल, सुंदर वास्तुकला तथा भव्यता के लिए जाना जाता है। जिसके कारण हमने आपके लिए कुछ Rajim me ghumne ki jagah सुझाई है जहां आप अपने पूरे परिवार के साथ जा सकते हैं और एक बेहतरीन पर बिता सकते हैं।

इस पोस्ट में हमने rajim tourist places सुझाई है तथा आपके सम्मुख राजिम पर्यटन स्थल की सारी जगह प्रस्तुत करने की कोशिश की है। इसमें हमने राजिम के प्रसिद्ध मंदिर भी दिए हुए है जहां आप जाकर एक अद्भुत अनुभव प्राप्त करेंगे। यदि आपको यह हमारी पोस्ट अच्छी लगे तो कमेंट में जरूर बताएं। 

राजिम में घुमने की जगह | Rajim me Ghumane ki Jagah

यदि आप छत्तीसगढ़ की यात्रा में है और आप छत्तीसगढ़ के एक प्रमुख जिला गरियाबंद के राजिम में है तो मैं आपके लिए Rajim me ghumne ki jagah नीचे सुझाई है जहां आप अपने पूरे परिवार तथा दोस्तों के साथ जाकर अपना महत्वपूर्ण समय बड़ी खूबसूरती के साथ बिता सकते हैं। 

1. त्रिवेणी संगम | Triveni Sangam Rajim

Triveni Sangam Rajim

त्रिवेणी संगम राजीम  छत्तीसगढ़ की गरियाबंद जिले में स्थित एक महत्वपूर्ण हिंदू तीर्थ स्थल है। इस त्रिवेणी संगम तीन नदियों के संगम के कारण कहा जाता है जिसमें महानदी, पैरी और सोंढुर नदियों के संगम है। यह स्थान राजिम गरियाबंध के स्थानीय लोगों के लिए प्राकृतिक सौंदर्य और धार्मिक महत्व से काम नहीं। यह त्रिवेणी संगम राजिम पर्यटन स्थल गरियाबंद जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। राजिम त्रिवेणी संगम में कई मंदिर हैं तथा हर साल माघ पूर्णिमा और कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर यहां विशाल मिलने का आयोजन किया जाता है इन मेले में लाखों श्रद्धालु भक्त देश विदेश से आकर भाग लेते हैं।

2. राजीव लोचन मंदिर | Rajiv Lochan Temple Rajim

Rajiv Lochan Temple Rajim

छत्तीसगढ़ की गरियाबंद जिले में स्थित राजीव लोचन मंदिर एक प्रसिद्ध महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर है। या मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित हैं और इसे छत्तीसगढ़ का “प्रयाग” भी कहा जाता है। यह मंदिर छत्तीसगढ़ नहीं बल्कि पूरे भारत में प्रसिद्ध है। यहां पर महानदी, पैरी नदी तथा सोंढुर नदी का संगम देखने को मिलता है जिसके कारण स्थान को त्रिवेणी संगम कहते हैं। राजीव लोचन मंदिर अपनी भाव वास्तु कला और सुंदर मूर्तियां के लिए जाना जाता है तथा इस प्रमुख मंदिर के अलावा भी यहां अन्य बहुत से प्रसिद्ध मंदिर भी स्थित है जो भगवान शिव को समर्पित हैं। जिसके कारण हर साल लाखों श्रद्धालु भक्त भगवान विष्णु के दर्शन करने के लिए राजीव लोचन मंदिर राजिम गरियाबंद आते हैं।

3. श्री राम प्रतिमा | Shree Ram Pritima

Shree Ram Pritima

श्री राम प्रतिमा राजिम गरियाबंद में स्थित एक नया पर्यटन स्थल है। जिसे भूतपूर्व मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल द्वारा 2023 में अनावृत किया गया था। यह श्री राम प्रतिमा जिला मुख्यालय गरियाबंद से लगभग 40 किलोमीटर तथा प्रसिद्ध राजीव लोचन मंदिर से लगभग 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां स्थित श्री राम जी की प्रतिमा अपनी भव्यता और कलाकारी के लिए प्रसिद्ध है प्रतिमा बहुत दूर से ही दिखाई पड़ती है जिसके कारण यह प्रतिमा पर्यटकों के लिए एक प्रमुख आकर्षण का कारण है। प्रतिमा की ऊंचाई लगभग 75 फीट ऊंची बताई जाती हैं, जिसे देखने के लिए प्रतिदिन सैकड़ो श्रद्धालु भक्त आते हैं।

इसे भी पढ़े – Top 15 रायपुर के प्रसिद्ध मंदिर

4. सीताबाड़ी | Sitabari Archiological Site

Sitabari Archiological Site

सीताबाड़ी छत्तीसगढ़ के राजिम शहर में स्थित गरियाबंद जिले का एक महत्वपूर्ण पुरातात्विक स्थल है। सीताबाड़ी को एक प्राचीन स्थल कहीं तो कोई गलत नहीं होगा क्योंकि यह 11वीं और 12वीं शताब्दी के बीच निर्मित कई मंदिरों और स्मारकों का घर है। मंदिर अपनी सुंदर नक्काशी और मूर्तियों के लिए जाना जाता है। महानदी के किनारे स्थित होने के कारण यह क्षेत्र हरी भरी वनस्पतियों औरसुंदर जीवन से भरा हुआ यह स्थल अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए भी जाना जाता है। जो पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती हैं, यदि आप छत्तीसगढ़ की यात्रा कर रहे हैं तो सीताबाड़ी को अपनी यात्रा में शामिल करना ना भूले। 

5. कुलेश्वर महादेव मंदिर | Kuleshwar Mahadev Mandir

Kuleshwar Mahadev Mandir

गरियाबंद जिले के राजिम शहर में स्थित कुलेश्वर महादेव मंदिर, राजीव लोचन मंदिर की तरह एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक मंदिर है। जो अपनी भव्य वास्तुकला और सुंदर नक्काशी के लिए जाना जाता है। यह मंदिर त्रिवेणी संगम पर स्थित है। कुलेश्वर महादेव मंदिर एक प्राचीन मंदिर है जिसका निर्माण 9वीं शताब्दी के आसपास का बताया जाता है तथा यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित हैं। मंदिर के गर्भ गृह में भगवान शिव की स्वयंभू शिवलिंग स्थापित है जिसे देखने के लिए प्रतिवर्ष हजारों की संख्या में श्रद्धालु भक्त आते हैं। यह मंदिर साल भर भक्तों और पटाखे को अपनी और आकर्षित करती हैं और महाशिवरात्रि और श्रावण मास की विशेष अवसर पर विशाल मिलेगा आयोजन किया जाता है। जिसके कारण यह मंदिर छत्तीसगढ़ आने वाले पर्यटकों के लिए एक Must Visit जगह बन जाता है। 

6. श्री जगन्नाथ मंदिर | Jagannath temple Rajim

Jagannath temple Rajim

छत्तीसगढ़ की गरियाबंद जिले के राजिम शहर में स्थित श्री जगन्नाथ मंदिर एक महत्वपूर्ण प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। जो यहां के स्थानीय लोगों के लिए एक बहुत बड़ी आस्था का केंद्र है। श्री जगन्नाथ मंदिर की वास्तुकला बहुत ही अद्भुत दिखाई पड़ती है, मंदिर के गर्भगृह में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा की प्रतिमा स्थापित है। जिस कारण यह स्थल सभी हिंदुओं के लिए एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल बन जाता है। मंदिर में हर साल रथ यात्रा का आयोजनकिया जाता है यह त्यौहार यहां बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। मंदिर के आसपास कई दार्शनिक स्थल भी है जैसे कि राजीव लोचन मंदिर, कुलेश्वर नाथ मंदिर और त्रिवेणी संगम जिसे आप राजिम आने के बाद घूम सकते हैं। 

7. भूतेश्वर महादेव मंदिर | Bhuteshwar Mahadev Mandir Rajim

Bhuteshwar Mahadev Mandir Rajim

भूतेश्वर महादेव मंदिर गरियाबंद जिले के राजिम शहर में स्थित एक महत्वपूर्ण प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। जो भगवान शिव को समर्पित एक प्राचीन मंदिर है। मंदिर का निर्माण लगभग 11वीं शताब्दी के आसपास का बताया जाता है। तथा मंदिर शांत और सुंदरस्वभाव के वातावरण वाली नदी किनारे स्थित है। बहुत से स्थानीय लोगों के अनुसार मंदिर में स्थित शिवलिंग का आकार धीरे-धीरे बढ़ रहा है। जिसके कारण यह मंदिर पर्यटकों के बीच एक लोकप्रिय धार्मिक स्थल बन जाता है। इसके अलावा मंदिर के आसपास अन्य प्रसिद्ध मंदिर पर स्थित है जिसके दर्शन आप यहां आने की बात कर सकते हैं। 

How to Reach ( कैसे पहुचे)

राजिम, गरियाबंद एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है जहां बहुत से महत्वपूर्ण हिंदू मंदिर स्थित है। यहां विभिन्न माध्यमों से आसानी से पहुंचा जा सकता है। जिसके लिए मैंने नीचे यात्रा के कुछ साधन सुझाए हैं जिसकी सहायता से आप यहां बड़ी आसानी से पहुंच सकते हैं।

सड़क मार्ग द्वारा: राजिम छत्तीसगढ़ के सभी प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग द्वारा आप बड़ी आसानी से बस, कार, टैक्सी की सहायता से पहुंच सकते हैं।

रेल मार्ग द्वारा: राजिम का अपना कोई रेलवे स्टेशन नहीं है जिसके कारण आपको जिला गरियाबंद रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा। आप अपने निकटतम रेलवे स्टेशन से गरियाबंद रेलवे स्टेशन पहुचकर वहां से बस या टैक्सी की सहायता से राजिम पहुंचकर इन प्रमुख सालों की सैर कर सकते हैं।

हवाई मार्ग द्वारा: हवाई मार्ग द्वारा आप बड़ी ही आसानी से निकटतम हवाई अड्डे तक पहुंचकर वहां से बस अटैक्स की सहायता से राजिम के प्रमुख स्थलों तक पहुंच सकते हैं। तथा अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ एक सुंदर पल बिता सकते हैं।

राजिम किस जिले में है?

राजिम छत्तीसगढ़ की गरियाबंद जिले में स्थित है।

राजीव लोचन मंदिर कहां स्थित है?

राजीव लोचन मंदिर गरियाबंद जिले के राजिम शहर के त्रिवेणी संगम पर स्थित है। 

निष्कर्ष

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में स्थित राजिम एक प्रमुख तीर्थ स्थल से काम नहीं। राजीव को छत्तीसगढ़ का प्रयागराज कहा जाता है जहां आपको बहुत से प्राचीन मंदिर देखने को मिलते हैं। यह राजीव मंदिर छत्तीसगढ़ नहीं बल्कि पूरे भारत में प्रसिद्ध है, जो अपनी भव्यता सुंदर वस्तु कला तथा प्राकृतिक सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है। इस पोस्ट में मैंने Rajim me ghumne ki jagah सुझाई है यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो हमें कमेंट में जरूर बताएं। 

Leave a Comment